॥दस्तक॥

गिरते हैं शहसवार ही मैदान-ए-जंग में, वो तिफ़्ल क्या गिरेंगे जो घुटनों के बल चलते हैं

Archive for the ‘कार्टून’ Category

वे कितने बेईमान हैं?

Posted by सागर नाहर on 2, जनवरी 2008

Posted in कार्टून | 6 Comments »

आज तो भारत की टीम हारी है…

Posted by सागर नाहर on 11, अक्टूबर 2007

Posted in कार्टून, हास्य व्यंग्य | Tagged: , , | 11 Comments »

नीलिमाजी, मेघदूत और खुल्लम खुल्ला प्यार

Posted by सागर नाहर on 21, जुलाई 2007

Meghdoot

यह कार्टून समर्पित है नीलिमाजी को उनकी पोस्ट

खुल्लमखुल्ला प्यार करेंगे हम दोनों…..

के लिये। उनकी इस  पोस्ट पर टिप्प्णी करने की बजाय यह तरीका ज्यादा अच्छा लगा। :)

इस कार्टून के बनाने के तीन मिनिट के बाद १७ लोगों ने इसे देखा और तीन टिप्प्णीयाँ मिली।

Posted in कार्टून, हास्य व्यंग्य | 18 Comments »

मेरे बनाये हुए कार्टून

Posted by सागर नाहर on 13, जुलाई 2007

आजकल अमित भाई रोज नये नये कार्टून बना रहे हैं , मुझे याद आया कि कुछ दिनों पहले मैने भी कुछ कार्टून बनाये थे तो  मेरा मन हुआ कि मैं भी अपने  बनाये कार्टून अपने चिठ्ठे   पर लगाऊं।

यह दो कार्टून जो आदरणीय फुरसतिया जी  की प्रेरणा से बनाये थे

यह कार्टून जब बनाया गया था तब फुरसतियाजी ने कार्टून बनाने की  कोशिश की थी पर सफल नहीं हो पाये। और चैट के दौरान मुझसे पूछ रहे थे कि क्या इसकी साइज बड़ी की जा सकती है?

(शायद लम्बऽऽऽबे लेख लिखने की आदत की वजह से) :) 

(फुरसतिया जी क्षमा करें)

यह दैनिक हिन्दी मिलाप  के कार्टूनिस्ट ने बनाया था जिसे  मैंने थोड़ा सा बदल दिया है|

कुछ यहाँ और भी है।

Posted in कार्टून, हास्य व्यंग्य | 18 Comments »

 
Follow

Get every new post delivered to your Inbox.