॥दस्तक॥

गिरते हैं शहसवार ही मैदान-ए-जंग में, वो तिफ़्ल क्या गिरेंगे जो घुटनों के बल चलते हैं

हिन्दी

Posted by सागर नाहर on 12, अगस्त 2006

हम अक्सर अपने चिट्ठों में हिन्दी के विकास की बातें करते हैं, हिन्दी फ़िल्म जगत के अभिनेताअभिनेत्रियों के अंग्रेजी में बोलने पर व्यंग्य भी करते हैं। सरकारी विभागों में हिन्दी पखवाड़ों के आयोजन पर भी हम कहते रहते हैं कि सरकारी विभागों में हिन्दी सिर्फ़ पखवाड़ों तक ही सीहित रहेगी पर मैं आप से यह पूछना चाहता हुँ सच बताईये कि हममें से कितने लोग अपने हस्ताक्षर हिन्दी में करते हैं?

झुठ नहीं बोलुंगा, भाई मैं तो नहीं करता पर अब शुरुआत कर रहा हुँ।

Advertisements

9 Responses to “हिन्दी”

  1. रवि said

    भई, मैं तो शुरू से ही हिन्दी में हस्ताक्षर करता रहा हूँ – रविशंकर.

  2. मैं भी हमेशा से

  3. राजीव said

    मैने कई वर्ष तक तो हिन्दी में भी हस्ताक्षर करे, एक बार तो एक खाते में दो नमूना हस्ताक्षर भी – एक हिन्दी और एक अंग्रेज़ी में (यद्यपि हस्ताक्षर की कोई भाषा नहीं होती फिर भी – दो भिन्न लिपियौं में लिखकर) परंतु सच कहूँ, अब अधिकाधिक स्थानों पर अंग्रेज़ी में ही हस्ताक्षर करने का दोषी तो हूँ ही। भई पकड़ लिया आपने सागर जी!

  4. अभी तक तो अंग्रेजी मे करता आया हूँ, अब विचार करना पडेगा.

  5. आपको जान कर प्रसन्नता होगी हम सदा से हिन्दी में हस्ताक्षर करते आए हैं, और करते रहेंगे. बैंक खातो से लेकर सभी जगह हिन्दी के हस्ताक्षर ही अधिकृत हैं.
    🙂

  6. Dipak said

    Mera bhi hastakshar hindi me hi hota hai sir….

  7. SHUAIB said

    माफी चाहता हूं नाहर जीः आप तो मेरे बारे मे जानते ही हैं, तो बताइए ये “हस्ताक्षर” का मतलब किया है

    वन्देमातरम्

  8. शोएब भैया, दस्तखत।
    सागर भाई, सोचना ही पडेगा।

  9. SHUAIB said

    ई-छाया जी – आपका धन्यवाद 🙂

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

 
%d bloggers like this: