॥दस्तक॥

गिरते हैं शहसवार ही मैदान-ए-जंग में, वो तिफ़्ल क्या गिरेंगे जो घुटनों के बल चलते हैं

Believe it or not?

Posted by सागर नाहर on 15, अगस्त 2007

सबसे पहले तो आप सभी मित्रों को  स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनायें।

***

आज हिन्दी वेब दुनियाँ देखते समय एक आश्चर्यजनक चीज देखने को मिली, आस्था या अंधविश्वास नामक विभाग में भारत में अलग अलग जगहों पर व्याप्त  अंधविश्वास  पर कई सारे लेख दिये गये हैं और उसी पृष्ठ पर एक और  सूचना दी गई है जो साफ  तौर पर अंधविश्वास को बढ़ावा देती दिखती है। कम से कम जगह तो बदल देते वेब दुनियाँ वाले इस सूचना को लगाने की 🙂

यह चित्र देखिये और लाल गोले में दिख रही सूचना को भी। 

सूचना यह है

तंत्र-मंत्र हमारे श्रद्धालु पाठकों के लिए कुछ सिद्ध स्तोत्र दिए जा रहे हैं। अनुष्ठानपूर्वक इनका स्तवन करने से मनोवांछित फल शीघ्र प्राप्त होते हैं।

  

 

 

 

 

 

 

 

 

***

एक घिसा पिटा चुटकुला

एक बार स्वर्गलोक में धर्मराज के दफ्तर में अचानक थोड़ा सा कम्पन्न हुआ सारी चीजें हिलने लगी, धर्मराज ने अपने अनुचर को पूछा  क्या हुआ यह सारी चीजें हिल क्यों रही है?, अनुचर ने पताया लगाया कि पृथ्वी पर किसी मानव ने  झूठ बोला है इसलिये यह कम्पन्न हुआ है।  महाराज आश्वस्त हो गये। इस घटना के बाद में रोज रोज  इस तरह रोज कम्पन्न होने लगा और  धर्मराज को आदत हो गई, एक दिन अचानक बड़ा भयानक भूचाल आ गया सारा दफ्तर तहस- नहस हो गया, परेशान से धर्मराज ने एक बार फिर अपने अनुचर को कहा पता लगाओ कि इतना बड़ा झूठ किसने बोला है?

अनुचर थोड़ी देर में  पता लगा कर आया और बोला महाराज पृथ्वी पर रिप्ले नामक मानव की Believe it or not  नाम की पुस्तक छप रही है।

Advertisements

7 Responses to “Believe it or not?”

  1. mamta said

    😦

    🙂

  2. 🙂

    स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनायें।

  3. सब शिवजी के गण हैं! आस्था, विश्वास, अन्धविश्वास – सब मिला है देश में. यही तो मजा है!

  4. हा हा , मस्त!!

    स्वतंत्रता दिवस की बधाई व शुभकामनाएं

  5. yunus said

    जय हो । बहुत सही

  6. prakruti said

    Yah ek alag prakar ke manushyon ka varg hai , jo isi tarah ki baton ko pasand karata hai. Ise ham rok nahin sakate. Yah beemari mahilaon se shuru hoti hai aur purushon tak pahunch jaati hai.

  7. स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनायें!

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

 
%d bloggers like this: