॥दस्तक॥

गिरते हैं शहसवार ही मैदान-ए-जंग में, वो तिफ़्ल क्या गिरेंगे जो घुटनों के बल चलते हैं

अपने लेख को अखबारी लेख की शक्ल दें

Posted by सागर नाहर on 18, नवम्बर 2007

आपने कई पुस्तकों या अखबारों के लेखों में देखा होगा कि कुछ खास लाइनों को अलग से बड़े अक्षरों में दिखाया जाता है। चिट्ठा जगत में आदरणीय फुरसतियाजी इस तरह का प्रयोग अक्सर करते हैं। उन्होने राग दरबारी में भी इस पुस्तक की खास बातों को अलग से किताब की तरह दिखाया है। यहाँ देखें

….और इस तरह सागर नाहर भारत के महानतम ब्लॉगरों में गिने जाने लगे। 🙂

यह देखने के बाद आपको भी लगता होगा कि आपकी रचनाओं की मुख्य बातों को भी अलग से दिखाना चाहिये, सुन (पढ़) रहे हैं ना अनिलजी ? मानस वाली कहानी में ऐसा किया जा सकता था!

आइये तो आपको इस तरह अपने लेख की मुख्य़ लाईनों को अलग से दिखाने का तरीका बताते हैं।

नीचे चित्र में बताये कोड को कॉपी कर लेवें.. ओह कॉपी कैसे होगा! यह तो इमेज है! चलिये ऐसा करिये नीचे लिखे शब्द highlight.txt पर राइट क्लिक कर save target as .. कर कॉपी कर लीजिये। (लेफ्ट क्लिक करने पर परिणाम दिखाई देगा)

highlight.txt

Scan-Ink1

और अपने लेख में कहीं भी सही जगह देख कर पेस्ट कर दीजिये! यह चित्र देखिये मैने अपनी महफिल की इस पोस्ट में इसका उपयोग किया है।

2

भाई जहाँ हमने एक महान ब्लॉगर की तारीफ करी है आप मत कर दीजियेगा,….वहाँ अपने लेख की खास लाईने चेंप दीजियेगा। .. वैसे करना चाहें तो हमें कोई आपत्ति नहीं! 😉

अब कोड में बदलने योग्य बातें

  1. border-top: 7px और border-bottom: 7px यह आपके द्वारा दिखाई जाने वाली मुख्य लाईनों के उपर और नीचे वाली लाईन है इसे आप 8 9 या और ज्यादा कर मोटी कर सकते हैं अगर पतली करना चाहें तो 6 5 या 4 कर सकते हैं।
  2. solid rgb(192, 138, 100) यह लाईन का कलर कोड है आप इसे जिस रंग में रंगना चाहें रंग सकते हैं। क्या कहा कलर के नंबर कोड?… जी वह भी आप यहाँ से ले सकते हैं।
  3. font size: 12pt तो आप समझ ही गये होंगे, यह हाईलाईट किये जाने वाले अक्षरों की साईज है इसे भी आप अपने हिसाब से कम ज्यादा कर सकते हैं।
  4. width:200px यह खिड़की की साईज है, आप इसे मुख्य लाईनों के हिसाब से छोटा या बड़ा कर सकते हैं।
  5. text-align: center इसमें center की जगह left या right करने पर खिड़की में लिखी लाईनों को दायें या बायें किया जा सकेगा।

कई बार ऐसा होता है कि खिड़की में दिखाई जाने वाली मुख्य लाइने बहुत ज्यादा होती है और उन्हें एक साथ दिखाने पर बॉक्स की साइज बहुत बड़ी हो जाती है जो भद्दा दिखता है ऐसे में हम मुख्य लाइनों को नीचे से उपर की और या उपर से नीचे की और घूमता हुआ भी दिखा सकते हैं…. कैसे?

बस मुख्य लाईने के पहले यह कोड चेप दीजिये और पूरे कोड अंत में </marquee> लिख दीजिये। ऐसा करने से उपर और नीचे की लाईन अपनी जगह पर रहेगी पर उसमें लिखी लाईनें नीचे से उपर की तरफ घूमती दिखाई देगी।

Scan-ink-2

और भी कई तरह के बदलाव किये जा सकते हैं मसलन उपर नीचे की लाईनों को हटा कर एक बॉक्स में मैटर को दिखाना, बेकग्राउंड कलर दिखाना, इमेज दिखाना आदि लेकिन वह सब और कभी……..

Advertisements

34 Responses to “अपने लेख को अखबारी लेख की शक्ल दें”

  1. जुग जुग जियो जी – यह जुगाड़ बताने के लिये! 🙂

  2. यदि इसी तरह के जुगाड़ लाते रहेंगे तो जरूर महानतम ब्लॉगर बन जायेंगे। 🙂

  3. हाँ याद आया , यही जुगाड मुझे एक बार समीरलाल जी ने बताया था और सबसे अच्छी बात की यह wordpress पर काम भी कर गया 🙂 ; अब आप समीरलाल जी को कम जुगाडिया न आँके 🙂

    डॉ साहब आपकी इस टिप्पणी के बाद मैने इस कोड को वर्डप्रेस पर प्रयोग कर देखा और सफल रहा। अत: लेख की उन पंक्तियों को मिटा दिया है जिसमें मैने लिखा था कि यह वर्डप्रेस पर काम नहीं करता। टिप्पणी के लिये धन्यवाद।
    समीरलाल जी कितने बड़े जुगाड़ी है यह तो उन्होने हॉट स्पॉट लगाने वाली पोस्ट में ही साबित कर दिया था, हम तो इन मामलों अभी उनके चेले हैं। 🙂

  4. Shastri JC Philip said

    बहुत उपयोगी जानकारी. इस तरह के लेख देते रहें — शास्त्री

    हिन्दी ही हिन्दुस्तान को एक सूत्र में पिरो सकती है.
    हर महीने कम से कम एक हिन्दी पुस्तक खरीदें !
    मैं और आप नहीं तो क्या विदेशी लोग हिन्दी
    लेखकों को प्रोत्साहन देंगे ??

  5. शाबास्! अब तो तुम भी तकनीकी गुरू हो गये। इसे ‘पुलकोट’कहते हैं। हम लगाते तो बहुत् दिन से रहे लेकिन यह अकल न् आई कि दोस्तों को बता दें। 🙂

  6. kakesh said

    धन्य हो महानतम महाराज. शुक्रिया.

  7. बढि़या भइया

  8. paryanaad said

    अच्‍छी जानकारी दी भाई. अखबार में तो यह सब बाएं हाथ का कमाल लगे है. यहां कर के देखेंगे. क्‍या वर्ड्स प्रैस पर ही काम करेगा या ब्‍लॉगस्‍पॉट पर भी चलेगा? चलिए कर के देखता हूं. पुन: शुक्रिया.

  9. बहुत बढ़िया जुगाड़।
    आपकी तकनीकी पोस्ट वाकई बढ़िया रहती है आजकल!!
    शुक्रिया!

  10. दर्द हिन्दुस्तानी said

    जरूर करके देखूंगा। यह बताये कि सभी ब्लाग को मै सूचि के रूप मे अपने ब्लाग मे लगाना चाहू तो क्या करना होगा। अग्रिम धन्यवाद।

  11. उन्मुक्त said

    वाह जी वाह

  12. Tarun said

    अरे वाह सागर भाईसा, बड़ी काम की बात बतायी आपने, धन्यवाद

  13. neeraj said

    धन्य हो प्रभु इस ज्ञान को हम जैसे जन साधारण में बांटने के लिए
    नीरज

  14. कमाल है! बहुत बहुत धन्यवाद इसके लिए।

  15. अगली ही पोस्ट में इसे आजमाते है. शुक्रियाजी.

  16. yunus said

    अच्‍छी जानकारी है । सागर भाई आप तो वाकई पक्‍के मास्‍साब बन गये हो । हमें इसे आज़माके देखना होगा । उम्‍मीद है कि इतना पढ़ाने के बाद समस्‍या नहीं आयेगी ।

  17. bhuvnesh said

    तकनीक के मामले में आपका जवाब नहीं. चलिये ये जुगाड़ भी फ़िट की जायेगी.

  18. […] भालू का बच्चा लिखा गया है.साइड में अखबारी जुगाड़ सागर चंद नाहर जी के सौजन्य से […]

  19. एकदम मस्त जुगाड़ है, जरूर आजमाकर देखा जायेगा… धन्यवाद..

  20. बहुत बढ़िया सागर भाई। वाकई गागर में सागर समाना। अखबार में इसका खूब प्रयोग करते हैं हम।अनूप जी की किस तरकीब से लगाते होंगे इस पर भी दिमाग खपाया पर तारीफ के दो बोल कह कर उन्हीं से पूछने की विनम्रता नहीं दिखा पाया। भारतीय जो हूं। ऐसे ही कुसंस्कारों पर इतराने में उम्र चली गई।

  21. सागर भाई मैंने भी सीख लिया.. बहुत धन्यवाद..

  22. Amit said

    सही है जी, लगे रहिए और फुरसतिया जी की बात का ध्यान रखिए, अब आप भी तकनीकी लेखन के दलदल में आ चुके हैं पूरे, निकले की कोशिश न कीजिएगा, बिड़ला व्हाईट सीमेंट सी मज़बूत पकड़ है इसकी!! 😉

  23. pawanapex said

    good

  24. सागर भाई, कहां से इतनी नायाब चीजें खोजकर ले आते हैं। पहले ब्लॉग रोल की शानदार जानकारी दी और अब पोस्ट को सजाने की इतनी शानदार विधा। इसे सीखने के लिए तो अभी कई बार इस पोस्ट पर आना पड़ेगा।

  25. बहुत अच्‍ठा लगा पढ कर सागर जी धन्‍यवाद इस आलेख के लिये।

  26. बहुत अच्‍छा लगा पढ कर सागर जी धन्‍यवाद इस आलेख के लिये।

  27. उपर्युक्त कोड में कुछ समस्या थी जो ब्लॉगर में काम नहीं कर रही थी. उन्मुक्त जी ने यह निम्न कोड इस्तेमाल किया और यह सही काम कर रहा है (ब्लॉगर ब्लॉग में)
    उन्मुक्त जी के लिये यह सही कोड जिसे काम करना चाहिये

  28. अरे ऊपर तो वर्ड प्रेस का कमेंट एचटीएमएल कोड खा गया. चलिए दूसरा उपाय करते हैं. आपसे आग्रह है कि नीचे दिए कोड को “<p” तथा “” चिह्न से बन्द कर दें बस.
    style=”border-top:7px solid #5c8a64;border-bottom:7px solid #5c8a64;font-weight:bold;font-size:12pt;float:right;padding-bottom:7px;width:200px;line-height:100%;padding-top:7px;text-align:center;margin:10px;”>उन्मुक्त जी के लिये यह सही कोड जिसे काम करना चाहिये

  29. धन्यवाद रवि भाई साहब
    एक और अच्छे कोड के लिये।
    मैने ब्लॉगर पर जब प्रयोग किया तब यह सही चल रहा था!
    चलिये इसी बहाने एक और जानकारी तो मिली।
    वर्डप्रेस पर कोड की वजह से बड़ी परेशानी होती है सो ब्लॉगर पर एक नया चिट्ठा ही बना लिया है जिस पर पुराने सारे प्रकाशित लेख और आने वाले तकनीकी लेख होंगे।
    एक बार पुन: धन्यवाद।

  30. shishir said

    बहुत अच्छा सर।

  31. shishir said

    सर मैने आपके तरीके को इस्तेमाल करके देखा। काम भी किया। पर जैसे आपकी पोस्ट मैं रंगीन पट्टियां दिख रही है वह नहीं दिखी। कृपया इसके लिए सुझाव दें।

  32. शिशिर जी,
    पहला वाला कोड क्यों काम नहीं कर रहा इस विषय को मैं कल देखूंगा। आज आपकी मुख्य समस्या का समाधान कर रहा हूँ। दूसरी समस्या है पट्टियों के रंग बदलने की तो आप इस लिंक http://html-color-codes.info/ पर जाये और पसंदीदा रंग चुने http://html-color-codes.info/ यहाँ आपको एक कोड मिलेगा जिसे आप 5c8a64 से बदल दें।

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

 
%d bloggers like this: