॥दस्तक॥

गिरते हैं शहसवार ही मैदान-ए-जंग में, वो तिफ़्ल क्या गिरेंगे जो घुटनों के बल चलते हैं

जब किसी के सपने पुराने हो जाते हैं, सांई के हो जाते हैं।

Posted by सागर नाहर on 27, जून 2010

“उतरन ” धारावाहिक की शुरुआत में “इच्छा” एक टूटी फूटी गुड़िया हाथ में लेकर कहती थी। जब दूसरों के सपने पुराने हो जाते हैं तो वे हमारे हो जाते हैं

हमारे एपार्टमेन्ट के वाचमैन के बेटा  सांई भी ठीक इच्छा की तरह ही किसी की दी हुई एकदम टूटी साईकिल जिसको पैडल तो ठीक एक पहिये में तो टायर तक नहीं है; ऐसी साईकिल को  बड़ी शान से चलाता रहता है।

आज सांई का जन्म दिन है। देखिये सांई अपने नये कपड़ों में अपनी  सवारी पर। जब सांई अपनी इस सवारी पर बैठ एक हाथ में छतरी (जाहिर है वह भी टूटी ही होती है।)लेकर निकलते हैं तब उनका दबदबा देखते ही बनता है।

Advertisements

12 Responses to “जब किसी के सपने पुराने हो जाते हैं, सांई के हो जाते हैं।”

  1. aradhana said

    अरे तो ये साईं हैं… पुराने सपनों से खेलने वाले… अच्छे हैं…और आप भी बहुत अच्छे हैं, जो आपने इनसे हमें मिलवाया.

  2. sanjay said

    गरीब का बेटा है तो आधी अधूरी चीज़ में भी मस्त है, नहीं तो रईसजादे तो हर तीसरे महीने गाड़ी का नया मॉडल लेते हैं, पुरानी से असंतुष्ट होकर। यही तो सिखाते हैं बाद्शाह खान, “डोंट बी संतुष्ट।”
    आपका आभार कि इस बच्चे को अपनी पोस्ट का विषय बनाया।
    था कोई समय जब प्रेमचंद ने ’ईदगाह’ लिखी थी और लोगों ने पसंद भी की थी, अब..?

  3. साईं के अपने सपने भी पूरे हों!

  4. वह मस्त है. अच्छा है. अपने में खुश है. ईच्छाओं की सीमा नहीं होती. साइकल मिल जाएगी तो स्कूटर , स्कूटर मिलेगा तो कार… सुखी सब हैं और दुखी हर दूसरा है… मिले जितना कम है. बस मग्न रहो साईं. एक दिन बडे भी बन जाओगे

  5. ePandit said

    सांई में बहुत से भारतीय बच्चों का अक्स दिखता है। वैसे सन्तोष से बढ़कर कोई सुख नहीं है।

  6. archana chaoji said

    सांई को जन्मदिन की बधाई ……….ढेर सारा प्यार ………..अब सांई हमारा हो गया …………शुभकामनाएं

  7. kase kahun said

    sai ko janmdin ki bahut bahut badhaiyan…….kisi ke purane sapano me apane sapno ki khushi dhundh lena,kam me khush ho lena ,ye hi to bhartiya sanskriti hai,jo aaj ke navdhanadhyon me nahi hai,isliye ve sab pa kar bhi asantusht rahte hai.
    sai jeevan me bahut tarkki karega kyon usne sabsse bada dhan pa liya hai
    santosh parm dhan……

  8. Dipak said

    aapki yahi khoj aapko mahaan banaati hai.. Man dravit ho gaya..Sai ko “Happy Birthday”

  9. काश ऐसा हो कि सपने पूरे होने के लिए दूसरों के पुराने पड़ने का इंतज़ार न करना पड़े।

  10. मैं पिछले 2 साल से इसका उपयोग कर रहा हूं. बहुत उपयोगी है — शास्त्री जे सी फिलिप

  11. Bahut khub-
    “जब दूसरों के सपने पुराने हो जाते हैं तो वे हमारे हो जाते हैं.”

  12. archana said

    (कल बिजली न होने से चूक गई)..एक दिन देर से ही सही …सांई को जन्मदिन की बधाई व ढेरों शुभकामनाएं..

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

 
%d bloggers like this: